छात्र संघ चुनाव की तारीख के लिए आमरण अनशन शुरू, दबाव में प्रशासन

0
300
बलिया टीडी कॉलेज में छात्र संघ चुनाव की तारीखों की घोषणा के लिए जिले के पांच छात्र नेता आमरण अनशन पर बैठे हैं।
बलिया टीडी कॉलेज में छात्र संघ चुनाव की तारीखों की घोषणा के लिए जिले के पांच छात्र नेता आमरण अनशन पर बैठे हैं।

त्तर प्रदेश के बलिया जिले में छात्र संघ चुनाव को लेकर आमरण अनशन शुरू हो गया है। पिछले एक महीने से लगातार प्रशासन को ज्ञापन सौंपने के बाद भी छात्र संघ चुनाव के तारीखों की घोषणा नहीं होने पर छात्र नेता आमरण अनशन पर बैठ गए हैं। छात्र नेताओं ने प्रशासन को चेतावनी दी है कि जल्द मांगें पूरी नहीं की गईं तो ये आंदोलन और भी व्यापक हो सकता है।

बलिया के मुरली मनोहर टाउन डिग्री कॉलेज (टीडी कॉलेज) में छात्र संघ चुनाव को लेकर छात्र नेता अब आर-पार का मन बना चुके हैं। छात्र नेता रोशन सिंह, अमरेश यादव, सूरज शर्मा, हिमांशु पाठक और सचिन कुमार छात्र संघ चुनाव की तिथि घोषित किए जाने की मांग पर सोमवार को आमरण अनशन पर चले गए हैं।

छात्र नेताओं का कहना है कि “बलिया के छात्र संघ का एक गौरवमयी इतिहास रहा है। पिछले दो सालों से यहां छात्र संघ के चुनाव नहीं हुए हैं। यह दुर्भाग्यपूर्ण है।”

टीडी कॉलेज के छात्र नेता अभिनव सिंह ने बताया कि “पिछले एक महीने से हमलोग गांधीवादी तरीके से आंदोलन कर रहे हैं। फिर भी जिला प्रशासन व महाविद्यालय प्रशासन हमारी आवाज नहीं सुन रहा है। इसीलिए आज आमरण अनशन की शुरुआत की गई है। अगर समय रहते हमारी मांग पूरी नहीं होती है तो पूरा छात्र संघ उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होगा।”

बता दें कि कोरोना महामारी की वजह से बीते दो सालों से बलिया में छात्र संघ का चुनाव नहीं हो सका है। अब सारी गतिविधियां सामान्य होने के बाद भी छात्र संघ चुनाव कराने के पक्ष में प्रशासन नहीं दिख रहा है। टीडी कॉलेज के छात्र नेता पिछले कुछ समय से लगातार महाविद्यालय से लेकर जिलाधिकारी कार्यालय तक पर छात्र संघ चुनाव के लिए ज्ञापन देते रहे हैं।

बीते दिनों बड़ी संख्या में छात्र नेताओं ने बलिया के जिलाधिकारी कार्यालय पर हल्ला बोल का आयोजन किया था। हालांकि इसके बावजूद प्रशासन की ओर से इस बाबत कोई सकारात्मक संकेत नहीं मिल रहे हैं। देखना होगा कि ये आमरण अनशन किस मोड़ तक जाता है।

सवाल है कि आखिर जिला प्रशासन छात्र संघ चुनाव कराने को लेकर तैयार क्यों नहीं है? क्या पिछले दो सालों से नहीं हुए छात्र संघ चुनाव के विहाप पर बलिया में छात्र संघ को हमेशा के लिए बंद कर देने की मंशा शासन-प्रशासन की है? जैसा कि उत्तर प्रदेश के कई जिलों के छात्र संघ के साथ बीते कुछ सालों में किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here