Thursday, December 9, 2021

बिहार: गंगा नदी में बहती मिलीं 40 से अधिक लाशें, प्रशासन ने कहा यूपी से आई हैं!

बिहार के बक्सर जिले में एक जगह है चौसा। चौसा आज दिनभर खबरों में बना रहा। क्योंकि यहां गंगा नदी में लाशें मिलीं। सोमवार को चौसा में गंगा नदी के किनारे बड़ी तादाद में लाशें तैरती हुई पाई गईं। जिसके बाद पूरे इलाके में हड़कंप मचा हुआ है। उम्मीद की जा रही है कि ये सभी कोरोना संक्रमण से मरने वालों की पार्थिव शरीर हैं। गंगा नदी में बह रही इन लाशों की संख्या 40 से 150 तक बताई गई। मीडिया रपटों में संख्या को लेकर अलग अलग दावे हैं।

बक्सर जिले का चौसा उत्तर प्रदेश की सीमा से ज्यादा दूर नहीं है। इसलिए ये कयास लगाए जा रहे हैं कि ये सभी लाशें उत्तर प्रदेश से बहकर आईं हैं। कोविड-19 से मृत लोगों का दाह संस्कार न कर पाने की स्थिति में इन्हें गंगा नदी में बहा दिया गया है। इसे लेकर कोई पुख्ता सबूत अब तक नहीं मिले हैं। लेकिन मीडिया रपटों की मानें तो लाशों के यूपी में बहाए जाने की ही संभावना है।

बक्सर गंगा नदी में बहती लाशें (फोटो: ट्विटर)

जांच के आदेश पर यूपी पर अंदेशा:

एक मीडिया रिपोर्ट में बक्सर जिले के एक उच्च अधिकारी केके उपाध्याय की बयान छपी है। केके उपाध्याय ने कहा है कि “ये लाशें 5-7 दिनों तक नदी में रही हैं। हम खोजबीन कर रहे हैं। पता लगा रहे हैं कि लाशें यूपी के किस शहर से बहकर आईं हैं- बहराइच, वाराणसी या इलाहाबाद।” केके उपाध्याय ने दावा किया है कि ये लाशें बिहार की नहीं हैं।

इस मामले को लेकर राजनीति भी शुरू हो गई है। उत्तर प्रदेश और बिहार में बयानों की झड़ी लग गई है। आरोप प्रत्यारोप भी लगाए जा रहे हैं। बहरहाल बिहार सरकार ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। कहा जा रहा है कि ये घटना ग्रामीण इलाकों की हकीकत बयां कर रही है। गांवों में कोविड-19 महामारी ने कोहराम मचा दिया है। लेकिन सरकार का ध्यान गांव के तरफ नहीं है। जांच की कमी के कारण कोरोना मरीजों का पता नहीं चल पा रहा है। जिसके कारण संक्रमण और विस्फोटक तरीके से फैल रहा है।

देखने होगा की पुलिस की जांच में क्या खुलासे होते हैं? क्या सचमुच ये लाशें उत्तर प्रदेश के किसी शहर से बहकर बक्सर पहुंची हैं? इस बात पर मुहर लगने पर उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार क्या प्रतिक्रिया देगी?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles