Thursday, December 9, 2021

काशी विद्यापीठ की जर्जर व्यवस्था: छात्र को पीटने के बाद जान से मारने की धमकी

हात्मा गांधी काशी विद्यापीठ अपने 100 सालों के इतिहास में बदहाल व्यवस्था के चलते अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रहा है। एक तरफ जहां प्रवेश परीक्षा, काउंसलिंग, परीक्षा परिणाम में गड़बड़ी एवं पठन-पाठन में हो रही अव्यवस्था के लिए छात्र धरना-प्रदर्शन व तालाबंदी कर रहे हैं वहीं दूसरी ओर छात्र व शिक्षक आमने-सामने आ गए हैं।

यह रार थमने का नाम ही नहीं ले रही कि एक और नई चुनौती विश्वविद्यालय प्रशासन को ठेंगा दिखा रही है। ताजा मामला है कैंपस में स्थित आचार्य नरेंद्र देव छात्रावास के बाहर हुई मारपीट व जान से मारने की धमकी का।

बी.ए. तृतीय वर्ष के छात्र रविंद्र पटेल का आरोप है कि वह “गत रविवार यानी 21 नवंबर को रात 11 बजे आचार्य नरेंद्र देव छात्रावास में एक छात्र नेता से मिलने गया था। गेट के बाहर आया तो वहां पहले से मौजूद समीर सिंह चंदेल, सूजल सिंह राजपूत व एक अज्ञात ने उसका नाम व जाति पूछने के बाद उससे अभद्रता की। जब उसने विरोध किया तो उसके साथ मारपीट की गई।” छात्र ने आरोप लगाया है कि उसे “चुनाव लड़ने पर जान से मारने की धमकी दी गई है।”

बीए तृतीय वर्ष के छात्र रविंद्र पटेल

गौरतलब है कि मीरजापुर जिले के चौधरीपुर, अदलपुरा के रहने वाले रविंद्र पटेल आने वाले छात्रसंघ चुनाव में उपाध्यक्ष पद पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं। रविंद्र ने दावा किया कि दबंगो ने उसे उपाध्यक्ष पद पर चुनाव न लड़ने का दबाव बनाया और ऐसा न करने पर जान से मारने की धमकी दी।

रविंद्र पटेल की तहरीर पर सिगरा थाने में दर्ज मुकदमे की प्रति-1

छात्र ने इस मामले में गत बुधवार यानी 24 नवंबर को सिगरा थाने में FIR दर्ज कराई। जिसमें IPC की धारा 323 (जानबूझकर चोट पहुंचाना), 504 (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर अपमान करना), 506 (आपराधिक धमकी) के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई है।

रविंद्र पटेल द्वारा दर्ज कराए गए मुकदमे की दूसरी प्रति

छात्र ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने से पहले विश्वविद्यालय प्रशासन को इसकी जानकारी दे दी थी। इस मामले पर खबर तक मीडिया ने जब परिसर की कानून व्यवस्था संभाल रहे प्रो. निरंजन सहाय (कुलानुशासक) से पूछा तो उन्होने कहा कि देश में संविधान लागू है और यह विश्वविद्यालय भी संविधान से चलता है। जल्द ही जांच कर इस पर ठोस कार्रवाई की जाएगी।

Prof. Niranjan Sahay
महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के कुलानुशासक प्रो. निरंजन सहाय

दिलचस्प है कि हाल के दिनों में विश्वविद्यालय को पूरी तरह सीसीटीवी कैमरे से लैस करने का दावा किया गया है। सुरक्षा के नाम पर लाखों खर्च भी हुआ है। ऐसे में छात्रावास के बाहर व भीतर भी सीसीटीवी कैमरे लगाये गये हैं और यदि कैमरे ने ईमानदारी से ड्यूटी निभाई होगी तो इस घटना की पूरी तस्वीर सामने आ सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles