Tuesday, October 26, 2021

ऑफलाइन काउंसलिंग से पहले काशी विद्यापीठ ने जारी की गाइडलाइन

हात्मा गांधी काशी विद्यापीठ विश्वविद्यालय में नए सत्र में प्रवेश के लिए ऑनलाइन दस्तावेज सत्यापन की प्रक्रिया जारी है। ऑनलाइन दस्तावेज सत्यापन के बाद ऑफलाइन काउंसलिंग शुरू होगी। काउंसलिंग में दस्तावेजों का भौतिक सत्यापन किया जाएगा। बुधवार को विश्वविद्यालय प्रशासन ने काउंसलिंग से जुड़ी दिशा निर्देश जारी की है।

  • दस्तावेजों के भौतिक सत्यापन के लिए अभ्यर्थी को सभी मूल प्रमाण पत्रों और उसके एक सेट छायाप्रति के साथ तय तारीख पर अपने काउंसलिंग सेंटर पर पहुंचना है। विश्वविद्यालय के किस संकाय के किस विभाग में किस पाठ्यक्रम की काउंसलिंग होगी इसे लेकर सूची जारी कर दी गई है।
  • ऑनलाइन प्रमाण-पत्र सत्यापन के लिए यदि अभ्यर्थी ने अर्हकारी परीक्षा की ऑनलाइन प्रति अपलोड की है तो भौतिक काउन्सिलिंग के समय उन्हें ऑनलाइन प्रमाण पत्र को प्रिंट करके और अपने विद्यालय/कॉलेज के प्रिंसिपल द्वारा सत्यापित कराकर ही लाना होगा। बगैर सत्यापित किया हुआ ऑनलाइन डॉक्यूमेंट मान्य नहीं होगा।
  • किसी भी प्रकार के आरक्षण का लाभ केवल उन्हीं अभ्यर्थियों को दिया जाएगा जो उत्तर प्रदेश के स्थायी निवासी हैं।
  • अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) श्रेणी के अभ्यर्थियों का जाति प्रमाण पत्र 01 अगस्त, 2018 के पहले का नहीं होना चाहिए।
  • आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (EWS) श्रेणी का लाभ उन्हीं अभ्यर्थियों को मिलेगा जो 2021-22 के लिए ईडब्ल्यूएस प्रमाण पत्र जमा करेंगे।
  • विवाहित महिला अभ्यर्थियों को जाति प्रमाण पत्र पिता के जाति के अनुसार और आय व निवास प्रमाण पत्र पति के नाम का प्रस्तुत करना होगा (आरक्षित वर्ग के लिए)।
  • प्रवेश परीक्षा हेतु आनलाईन परीक्षा आवेदन पत्र में क्लेम किए गए भारांक तथा आरक्षण से सम्बन्धित भौतिक प्रमाण पत्रों में विसंगति पाए जाने कि स्थिति में इनका लाभ नहीं दिया जायेगा।
  • भौतिक काउन्सिलिंग के पश्चात वे अभ्यर्थी जिनका प्रवेश होगा उन्हें फीस जमा करने के लिए मेसेज भेजा जाएगा।
  • तय तारीख के भीतर प्रवेश शुल्क जमा न करने पर प्रवेश रद्द हो सकती है।
  • शुल्क जमा करने के बाद प्रवेशार्थियों को प्रवेश शुल्क रसीद के साथ अपने प्रवेश अनुमति पत्र की विश्वविद्यालय प्रति मूल प्रमाण पत्रों की दो प्रति के साथ संबंधित संकाय/विभाग/संस्थान में तथा कुलानुशासक प्रपत्र का आवेदन पत्र कुलानुशासक कार्यालय में अवश्य जमा करना होगा।
  • प्रवेश अनुमति पत्र के साथ स्नातक के प्रवेशार्थियों को टीसी तथा स्नातकोतर के प्रवेशार्थियों को माइग्रेशन प्रमाण पत्र और एंटी रैगिंग वचन-पत्र सम्बंधित संकाय/विभाग/संस्थान में जमा करना होगा।

बता दें कि ऑफलाइन काउंसलिंग के लिए ऐसे अभ्यर्थियों को ही मैसेज भेजा जाएगा जिन्होंने अपने डॉक्यूमेंट विश्वविद्यालय के वेबसाइट पर अपलोड किए हैं। विश्वविद्यालय के जनसंपर्क अधिकारी के अनुसार सभी पाठ्यक्रमों में तय सीट से दोगुने अभ्यर्थियों को ऑफलाइन काउंसलिंग के लिए मैसेज भेजा जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles