Thursday, December 9, 2021

टीडी कॉलेज में छात्र संघ चुनाव की मांग पर काशी विद्यापीठ की चर्चा क्यों हो गई?

राजनीति की नर्सरी कही जाती है छात्र संघ की राजनीति। छात्र संघ के जरिए पढ़ाई-लिखाई के दौरान ही नौजवान राजनीति का ककहरा सीखते हैं। लेकिन पिछले कुछ सालों में उत्तर प्रदेश के अलग-अलग विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों में छात्र संघ चुनाव पर रोक लगा दी गई। प्रशासन किसी न किसी बहाने छात्र संघ का चुनाव बंद करने की कोशिश करता दिखता है।

बलिया के जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय से संबद्ध श्री मुरली मनोहर टाउन स्नातकोत्तर महाविद्यालय (टीडी कॉलेज) में बीते साल छात्र संघ का चुनाव नहीं कराया गया। कारण बताया कोरोना संक्रमण को। सोमवार यानी आज टीडी कॉलेज के छात्र नेताओं ने महाविद्यालय के प्राचार्य को एक ज्ञापन सौंपा। इस ज्ञापन में टीडी कॉलेज में छात्र संघ चुनाव कराने की तिथि घोषित करने की मांग की गई है।

छात्र नेताओं ने प्राचार्य से कहा है कि कोरोना की वजह से पिछले साल महाविद्यालय के छात्र संघ का चुनाव नहीं हुआ था। लेकिन इस साल ऐसी कोई मुसीबत नहीं है। इसलिए महाविद्यालय प्रशासन जल्द छात्र संघ चुनाव को लेकर तारीखों का ऐलान करे।

प्राचार्य को सौंपे पत्रक में वाराणसी स्थित महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ विश्वविद्यालय का जिक्र किया गया है। कहा गया है कि कोरोना संक्रमण के दौर में भी महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में कोरोना गाइडलाइंस के तहत छात्र संघ चुनाव संपन्न हुए थे। इसके अलावा उसी दौरान उदय प्रताप कॉलेज में हुए चुनाव का उदाहरण भी दिया गया है।

टीडी कॉलेज के छात्र नेताओं का कहना है कि जब कोरोना के दौर में पूरे उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव हो सकता है तो महाविद्यालय में छात्र संघ का चुनाव क्यों नहीं हो सकता है?

इस मुद्दे पर टीडी कॉलेज प्रशासन का पक्ष जानने के लिए हमने कॉलेज के कुलानुशासक से संपर्क किया। हालांकि कुलानुशासक ने इस मुद्दे पर कोई बयान नहीं दिया। उन्होंने कहा कि “मैं कॉलेज में नहीं था इसलिए मेरे पास कोई जानकारी नहीं है। मैं कुछ नहीं कह पाऊंगा अभी।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles