Thursday, December 9, 2021

भाजपा विधायक के बिगड़े बोल, अपने पुराने साथी ओमप्रकाश राजभर को बता दिया भैंसा

लिया जिले के बैरिया विधानसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी के विधायक सुरेंद्र सिंह ने एक बार फिर आपत्तिजनक बयान दिया है। सुरेंद्र सिंह ने भाजपा के पुराने साथी और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर को भैंसे के संस्कार का व्यक्ति बताया है। अपने आवास पर एक पत्रकार के सवाल के जवाब में भाजपा विधायक ने यह विवादित बयान दिया है।

बैरिया विधायक से पत्रकार ने ओमप्रकाश राजभर के समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात पर सवाल पूछा था। सुरेंद्र सिंह ने इसी के जवाब में कहा कि “हमने प्रयास किया कि एक भैंसा को इंसान बना लें। लेकिन भैंसे को इंसान बनाना प्रकृति के बस की बात नहीं है। वो प्रकृत प्रदत्त चीज है, भैंसा भैंसा ही रहेगा।”

जब उनसे पूछा गया कि क्या वो ओमप्रकाश राजभर को भैंसा बता रहे हैं तब सुरेंद्र सिंह ने कहा कि “निश्चित रूप से संस्कार वही हैं। भैंसा कहने का मतलब भैंसा थोड़ी होता है। संस्कार वही है ओमप्रकाश राजभर का। कोई पवित्र गंगा जल में स्नान करके पोखरे में जाए तो उसे क्या कहा जाएगा।”

समाजवादी पार्टी और सुभासपा के गठबंधन के बाद से उत्तर प्रदेश के सियासी गलियारों में हलचलें तेज हो गई हैं। पूर्वांचल में ओमप्रकाश राजभर की पैठ से अखिलेश यादव को फायदा होने की कयासें लगाई जा रही हैं। ओमप्रकाश राजभर इससे पहले भाजपा के साथ ही थे। लेकिन फिर भाजपा के साथ उनकी कट्टी हो गई। बीते कुछ महीने से ओमप्रकाश राजभर अलग-अलग मोर्चे बनाने की कवायद कर रहे थे।

उत्तर प्रदेश के सियासी विद्वानों में ओमप्रकाश राजभर के सपा के साथ जाने की चर्चा चल रही थी। इसी बीच ओमप्रकाश राजभर ने अखिलेश यादव के साथ मुलाकात की एक वीडियो ट्वीट की। साथ ही अखिलेश यादव ने भी इस मुलाकात की एक तस्वीर साझा की।

इन दिनों बलिया से आने वाले भाजपा विधायकों ने बेतुके बयानबाजी का मोर्चा संभाल रखा है। पिछले एक हफ्ते में बलिया जिले के तीसरे भाजपा विधायक हैं सुरेंद्र सिंह जिनके बयान पर बवाल कटा हुआ है। सुरेंद्र नारायण सिंह से पहले फेफना विधायक उपेंद्र तिवारी और सदर विधायक आनंद स्वरूप शुक्ला की बयानबाजी पर सुर्खियां बनी हुई थीं।

उपेंद्र तिवारी ने कहा था कि पेट्रोल-डीजल के दाम लोगों की प्रति व्यक्ति आय के हिसाब से बहुत कम है। साथ ही 2014 के बाद प्रति व्यक्ति आय दोगुना हो गया है। तो वहीं आनंद स्वरूप शुक्ला ने कहा था कि हम मदरसों में आतंकवाद की शिक्षा बंद करके गणित, कंप्यूटर, संस्कृत की शिक्षा देना चाहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles